आज है नेशनल सिविल सर्विस डे, क्यों मनाते हैं ये दिन

भारत में हर साल 21 अप्रैल को राष्ट्रीय सिविल सेवा दिवस मनाते हैं.

सरकारी कर्मचारियों को प्रेरित करने के लिए समर्पित है ये खास दिन.

आजादी के बाद सिविल सेवकों के पहले बैच को सरदार वल्लभ भाई पटेल ने संबोधित किया था.

सिविल सेवकों को समर्पित इस भाषण में वल्लभ भाई पटेल ने उन्हें भारत का ‘स्टील फ्रेम’ कहा था.

MCX पर सोने का रेट  करीब 550 रुपए बढ़ गया है.

21 अप्रैल 2006 को विज्ञान भवन में पहला राष्ट्रीय सिविल सेवा दिवस मनाया गया.

तभी से यह दिन हर साल सेलिब्रेट किया जाता है.

इस दिन सिविल सेवकों को रूप से सम्मानित किया जाता है.

साथ ही सिविल सेवकों के एक्सपीरियंर के बारे में जाना जाता है.

सिविल सेवक अपनी योग्यता आदि से करवाते हैं रूबरू.