क्या चेन खींचने के बाद भी ड्राइवर ट्रेन को चला सकता है?

ट्रेन में आपातकालीन ब्रेक लगाने के लिए चेन होती है.

इस चेन को खींचने से ट्रेन रुक जाती है.

हालांकि, बेवजह चेन पुलिंग करने से सजा मिलती है.

लेकिन हम जानेंगे क्या वाकई चेन खींचने से ट्रेन रुक जाती है.

MCX पर सोने का रेट  करीब 550 रुपए बढ़ गया है.

क्या लोको पायलट चाहे तो इसे ओवरराइड करके ट्रेन चलाते रह सकता है?

ट्रेन को रोकने के लिए एयर प्रेशर को कम करके ब्रेक पहियों पर अप्लाई करके रोकते हैं.

जबकि ट्रेन की प्राइमरी ब्रेक पाइप अलार्म चेन से जुड़ी होती है.

जब कोई चेन खींचता है पाइप में बंद एयर छोटे से वेंट के जरिए बाहर आकर ब्रेक लगाती है.

चेन खींचने पर ब्रेक पाइप से प्रेशर रिलीज होने पर धीरे से ट्रेन रुकती है.

इसकी जानकारी लोको पायलट को तुरंत मिल जाती है.

जिससे वह ट्रेन को एक सही तरीके से धीमा करना शुरू करता है.

हालांकि वो चाहे तो ट्रेन को बिना रोके आगे ले जा सकता है.

जहां कोपायलट को जानकर चेन खींचने की आशंका होती है,वो वहां ट्रेन नहीं रुकने देते हैं.